‘युद्ध से पहले की तुलना में रूस से ज़्यादा तेल खरीद रहा है यूरोप’ : विदेशमंत्री एस. जयशंकर ने दिया टो-टूक जवाब

नई दिल्ली: रूस के खिलाफ कड़ा रूख ना अपनाने को लेकर कई सारे देश भारत की आलोचना कर रहे हैं. इन्हीं आलोचनाओं का जवाब अब भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिया है. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि यूरोप रूस से युद्ध के पहले की तुलना में ज्यादा तेल खरीद रहा है. ब्रिटिश विदेश सचिव लिज़ ट्रस की उपस्थिति में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ये टिप्पणी की है. जयशंकर ने कहा, “जब तेल की कीमतें बढ़ती हैं, तो ये स्वाभाविक है कि कोई भी देश बाजार में जाकर देखेगा कि उनके लोगों के लिए क्या अच्छा सौदा हैं.”
जयशंकर ने आगे कहा कि मुझे पूरा यकीन है कि अगर हम दो या तीन महीने तक प्रतीक्षा करें और वास्तव में देखें कि रूसी तेल और गैस के बड़े खरीदार कौन हैं, तो मुझे संदेह है कि सूची पहले की तुलना में बहुत अलग नहीं होगी. हम उस सूची में शीर्ष 10 में भी नहीं होंगे. श्री जयशंकर की ये टिप्पणी ऐसे समय पर आई है जब रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव दो दिवसीय भारत की यात्रा पर आए हैं.