त्रिदिवसीय युवा महोत्सव ‘उड़ान – 22‘ का भव्य समापन

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

युवा हौसलों को पंख लगा गया उड़ान -22, पुरस्कार पाकर खिले छात्रों के चेहरे

वाराणसी। डीएवी पीजी कॉलेज के त्रिदिवसीय युवा महोत्सव ‘उड़ान – 22‘ के अन्तिम दिन गुरूवार को युवाओं ने जमकर धमाल मचाया। मंचकला की गायन, वादन एवं नृत्य की विधाओं में युवाओं की प्रस्तुतियों हर किसी के दिल में उतर आई। हर कोई उनके हौसले की उड़ान को सलाम करता नजर आया। समापन समारोह के मुख्य अतिथि प्रख्यात रंगकर्मी व्योमेश शुक्ला ने कहा कि युवाओं की उम्र रूकने की नही बल्कि कदम दर कदम आगे बढ़ने की है। युवाओं को उत्साह के साथ साथ बौद्धिकता में भी वृद्धि पर जोर देना चाहिए। विशिष्ट अतिथि कवि चन्द्रशेखर गोस्वामी ने प्रसिद्ध गीत ‘ जिन्दा शहर बनारस हूॅ‘ सुनाकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। विशिष्ट अतिथि कलाकार सतीश मिश्रा ने जैसे ही मंच से ‘छाप तिलक सब छीनी रे मुझसे नैना मिलायके‘ सुनाया तो समूचा प्रांगण तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। इसके अलावा उन्होनंे मै नदी हूॅ बह रही हॅू भी सुनाकर सबकी वाहवाही लूटी।
इससे पूर्व महोत्सव का शुभारंभ मॉ सरस्वती की प्रतिमा पर मार्ल्यापण एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुआ। कार्यक्रम समन्वयक प्रो. अनूप कुमार मिश्रा ने अतिथियों को पुष्पगुच्छ, अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। स्वागत प्रो. ऋचारानी यादव, डॉ. पूनम सिंह, डॉ. मीनू लाकड़ा ने किया। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. संगीता जैन ने दिया। इस अवसर पर मुख्य रूप से प्रो. सत्यगोपाल जी, प्रो. मधु सिसौदिया, डॉ. प्रतिभा मिश्रा, डॉ. इन्द्रजीत मिश्रा, डॉ. समीर कुमार पाठक, डॉ. वीएन दूबे, डॉ. शोभनाथ पाठक, डॉ. प्रियंका सिंह, डॉ. प्रतिमाा गुप्ता, डॉ. आहूति सिंह, डॉ. ओमप्रकाश आदि रहे। छात्रों में अनुश्री अग्रवाल, रतिकेश पूर्णोदय, अनीशा आदि ने संचालन किया। व्यवस्था में राजन कुमार, रोहन राज, नीतिश कुमार, शुभम आदि रहे।
सांस्कृतिक कार्यक्रम की रही धूम – उड़ान – 22 के अन्तिम दिन सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रही। सर्वप्रथम गायन के क्रम में अश्विनी बरनवाल ने ‘ये दोस्ती हम नही छोड़ेंगे‘, संदीप कुमार ने काव्यपाठ किया। प्रगति जायसवाल ने शास्त्रीय नृत्य किया। इसके अलावा माइम, नृत्य एवं नाटक की भी प्रस्तुति हुई। वहीं संस्कृत संभाषण में भी प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।
ये प्रतिभागी रहे विजेता – उड़ान -22 में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। क्विज में श्रवण श्रीवास्तव एवं अविनाश शुक्ला प्रथम, उज्ज्वल शर्मा एवं रोहित राज गुप्ता द्वितीय तथा श्रीकान्त यति एवं सुधांशु रंजन तृतीय रहे। हिन्दी सुभाषण में राहुल राज अर्जुन, अंग्रेजी सुभाषण में अभिषेक प्रद्योत, एवं संस्कृत सुभाषण में अमरजीत श्रीवास्तव प्रथम रहे। काव्य पाठ हिन्दी में रोशन मौर्या, अंग्रेजी में शुभम कुमार तथा संस्कृत में अनुराग चतुर्वेदी प्रथम रहे। शार्ट प्ले में आकाश वर्मा एवं समूह प्रथम रहा तोे माइम में निकिता सिंह एवं समूह प्रथम रहे। मिमिक्री में संतोष कुमार, एवं मोनो एक्टिंग मंे आकाश सिंह प्रथम रहे। कॉमेडी में राधेकृष्ण राम प्रथम रहे। पोस्टर निर्माण में आंचल वर्मा, स्केचिंग में रीना कन्नौजिया, मेंहदी में शिवानी मौर्या, रंगोली में अर्शिका जायसवाल प्रथम रही। फोटोग्राफी में राजन कुमार प्रथम रहे। एकल गायन में अभ्युदय नारायण सिंह प्रथम, नृत्य में शार्ली सिंह प्रथम रही। समुह नृत्य में रोहित राज एवं समूह तथा कोरियोग्राफी में श्रेया प्रथम रही। सभी विजयी प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह एवं प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम का संयोजन प्रो. अनूप कुमार मिश्रा ने किया। इस अवसर पर सांस्कृतिक समिति के समस्त सदस्यों सहित बड़ी संख्या में अध्यापक, कर्मचारी एवं छात्र – छात्राएॅ शामिल रहे।  
(प्रताप बहादुर सिंह)
मीडिया प्रभारी