उप जिलाधिकारी चौरीचौरा एवं प्रदूषण विभाग की उपस्थिति में हुआ अवैध भट्ठा सील

कृपा शंकर चौधरी ब्यूरो गोरखपुर

गोरखपुर। आज चौरीचौरा क्षेत्र में सच और सार्थक प्रयास की विजय होती है दिखाई दिया। पर्यावरण क्रांति मित्र ट्रस्ट की पहल पर पर्यावरण संरक्षण हेतु शाशन द्वारा निर्धारित मानकों को ताक पर रखकर चल रहे ईंट भट्ठे को प्रशासन ने सील किया ।

दरअसल उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड मुख्यालय से 15/ 7/ 2021 को एस एन सी उद्योग ग्राम दुबौली (फैलहा) पूर्व नाम मेसर्स एमएफके ईट उद्योग चौरीचौरा को बंदी का आदेश जारी किया गया था। पत्र का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी गोरखपुर के द्वारा भी इस ईट भट्ठे को बंद करने का आदेश जारी किया गया। आदेश को संज्ञान में लेते हुए क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं चौरीचौरा उप जिलाधिकारी की उपस्थिति में आज ईट भट्टे को सील कर दिया गया। सीलिंग प्रक्रिया के दरम्यान उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वैज्ञानिक सहायक अयोध्या प्रसाद उप जिलाधिकारी चौरी चौरा व तहसीलदार चौरीचौरा की उपस्थिति में मैसर्स एसएनसी फील्ड को सील किया गया। भट्ठा सील करते समय भट्टे के मैनेजर धर्मवीर चौहान उपस्थित थे जिनकी उपस्थिति में भट्ठा सील की कार्रवाई की गई भट्ठा सील करने के उपरांत उक्त भट्ठे को थानाध्यक्ष झगहा की सुपुर्दगी में दिया गया। थानाध्यक्ष को निर्देशित किया गया कि सक्षम न्यायालय व उच्च अधिकारियों का आदेश पारित होने तक उक्त भट्ठे को अपनी अभिरक्षा में रखेंगे। उक्त सीलिंग की कार्रवाई दो गवाहों के समक्ष की गई जिनमें धर्मवीर चौहान मैनेजर हेमंत कुमार मुंशी रहे

आपको बता दे कि प्रदूषण के खिलाफ मुहिम चलाते हुए पर्यावरण क्रांति मित्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने गोरखपुर जिले में प्रदूषण नियंत्रण के लिए निर्धारित मानकों की धज्जियां उड़ाते हुए अवैध रूप से चल रहे हैं ईट भट्ठों के खिलाफ ज्ञापन देकर, पत्र लिखकर शिकायत किया था, परंतु कोई ठोस कार्रवाई प्रशासन द्वारा नहीं किया जा रहा था । दिनांक 23/03/2022 को पर्यावरण क्रांति मित्र ट्रस्ट के द्वारा उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड सहित सरकार व जिम्मेदार अधिकारियों को पुनः अवगत कराकर प्रदूषण फैला रहे ईट भट्ठों पर कार्रवाई करने की मांग की गई और ऐसा ना होने की स्थिति में धरना प्रदर्शन के लिए चेतावनी भी दिया गया था। जिस पर प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए चौरी चौरा स्थित ईंट भट्ठे को सीज किया गया है । प्रशाशन के इस कदम का स्वागत करते हुए पर्यावरण क्रांति मित्र ट्रस्ट के रास्ट्रीय अध्यक्ष जमशेद जिद्दी राष्ट्रीय महासचिव राधेश्याम सेहरा उपाध्यक्ष सुधीर एम टामसन व राट्रीय प्रवक्ता धीरेंद्र प्रताप ने प्रशाशन को धन्यवाद ज्ञापित किया है । पदाधिकारियों का कहना है कि अभी 200 से ज्यादा ईंट भट्टे जिले में सक्रिय हैं जिनके द्वारा भारी मात्रा में वायुमंडल को प्रदूषित किया जा रहा है। पर्यावरण संरक्षण हेतु इन पर कार्यवाही अति आवश्यक है । उल्लेखनीय है कि पर्यावरण क्रांति मित्रों ने मोतीराम अड्डा स्थित बिजली प्लांट के सामने चल रहे गिट्टी प्लांट के द्वारा फैला रहे प्रदूषण पर भी सवाल उठाते हुए प्रशाशन को अवगत करवाया है परंतु प्रशासन ने इस पर कोई कार्यवाही नहीं किया है ।