“अमेज़न हमें तबाह करना चाहता था और सफल रहा…” : अमेज़न से विवाद में फ्यूचर रिटेल ने SC में कहा

नई दिल्ली: फ्यूचर रिटेल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा अमेजन हमें तबाह करना चाहता था और यह सफल रहा हम धागे से लटके हुए हैं. अब कोई भी हमारे साथ व्यापार नहीं करना चाहता. जब मकान मालिक बेदखली का नोटिस देता है तो हम क्या कर सकते हैं? 1,400 करोड़ रुपये के सौदे के लिए अमेजन ने 26,000 करोड़ रुपये की कंपनी को नष्ट कर दिया है. अमेजन जो करना चाहता था उसमें सफल रहा है. अमेजन ने फ्यूचर रिटेल एसेट्स को सरेंडर करने पर आपत्ति जताई.
अमेजन का कहना है कि फ्यूचर रिटेल की संपत्ति का ट्रांसफर “रिप्लेज़ बिलीव इट ऑर नॉट” जैसा दिखता है. FRL ने बिना किसी विरोध के 800 से अधिक दुकानों को जाने दिया. वहीं फ्यूचर ने कहा 835 से अधिक स्टोरों पर नियंत्रण खो दिया है, शेष 374 स्टोर ” एक प्रार्थना पर” चल रहे हैं. जमीन मालिकों की कार्रवाई उसके नियंत्रण से बाहर है. वह किराए का भुगतान करने में असमर्थ है और आखिरकार उसे अपना स्टोर सरेंडर करना पड़ा.

हमारे खातों से कोई भुगतान नहीं किया जा सकता है क्योंकि उन्हें फ्रीज कर दिया गया है. अमेजन ने कहा अदालत को फ्यूचर की संपत्ति के किसी भी अलग करने के कदम को रोकना चाहिए. जब तक कि मामला आर्बिट्रल ट्रिब्यूनल द्वारा तय नहीं किया जाता है. फ्यूचर का दावा है कि उसके पास पैसे की कमी है और वह लीज रेंटल का भुगतान नहीं कर सकता है. यह एक रणनीति और दिखावा है.