बलिया के पत्रकारों की गिरफ्तारी के विरोध में डीएम को ज्ञापन

संवाददाता राजित राम यादव

बस्ती। उत्तर प्रदेश के  बलिया जिले में यूपी बोर्ड के पेपर लीक मामले को लेकर के पत्रकारों के ऊपर फर्जी मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजे जाने के विरोध स्वरूप ग्रमीण पत्रकार एशोसिएशन उत्तर प्रदेश द्वारा सात सूत्री मांगों के लेकर राज्यपाल के संबोधन मे जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा है विरोध प्रदर्शन करते हुए आक्रोशित पत्रकारों ने बलिया डीएम के खिलाफ नारे बाजी करते हुए पीड़ित पत्रकारो को रिहा करने की मांग किया गया, ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन बस्ती के जिलाध्यक्ष अवधेश तिवारी ने कहा बलिया में नकल होने का खुलासा करने वाले पत्रकारों के खिलाफ वहा के डीएम व एसपी द्वारा मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया इस तरह का कार्य सीधे लोकतंत्र पर प्रहार है और इस लिए आज हम ग्रमीण पत्रकार एशोसिएशन उत्तर प्रदेश के द्वारा सात सूत्री मांगों के लेकर राज्यपाल के संबोधन मे जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा है, और हमारी मांग है जो पत्रकार गिरफ्तार किए गए हैं वह निर्दोष है उन्हें छोड़ा जाए और वहा के डीएम व उससे संबंधित अधिकारी है उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी करवाई की जाए उन्होंने कहा की भारत लोकतांत्रिक देश है और लोकतंत्र में मीडिया का होना बहुत आवश्यक है लेकिन यहां तो उसपर ही अंकुश लगाया जा रहा है, अगर पत्रकार कोई सही खबर को लिखता है और भ्रष्टाचार को उजागर करता है तो प्रशासन उसपर कार्रवाई  के बजाए पत्रकार पर ही कार्रवाई करने लगता है इसपर रोक लगनी चाहिए,