बिन पानी घड़ा अधूरी है, इसमें पानी भी जरूरी है।
(अकारण पानी की बर्बादी से बचें)

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


वाराणसी।जल ही जीवन है, यह तो सभी जानते हैं।लेकिन इसके दुरुपयोग से बाज नहीं आते हैं, तेजी से गिरते जा रहे भूजल स्तर और आने वाले दिनों में पानी की कमी से होने वाले गंभीर समस्याओं को देखते हुए जल बचाओ अभियान के मुहिम पर बल देते सामाजिक संस्था सुबह-ए- बनारस क्लब के बैनर तले संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, लक्ष्मी हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक डॉ० अशोक कुमार राय, कालेज की प्रबंधक समाज सेविका डॉ० रितु गर्ग, कॉलेज की प्रधानाचार्या डा० संगीता बनर्जी, महासचिव राजन सोनी, एवं उपाध्यक्ष समाजसेवी अनिल केसरी के नेतृत्व में मैदागिन स्थित श्री अग्रसेन कन्या इंटर कॉलेज के प्रांगण में बिन पानी घड़ा अधूरी है, इसमें पानी भी जरूरी है, के नारों के साथ छात्राओं के हाथ में खाली घड़ा और स्लोगन लिखी तख्तियां देकर पानी की बर्बादी ना करने और जल संरक्षण करने की अपील करते हुए एक जन जागरूकता अभियान चलाया गया। उपरोक्त अवसर पर संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, लक्ष्मी हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक डॉ अशोक कुमार राय, कालेज की प्रबंधक समाजसेविका डॉ० रितु गर्ग, कालेज की प्रधानाचार्या डा० संगीता बनर्जी, महासचिव राजन सोनी, एवं उपाध्यक्ष समाजसेवी अनिल केसरी ने अपील करते हुए कहा कि जल संरक्षण के प्रति सभी को गंभीर होने की जरूरत है। जल की एक-एक बूंद भी नष्ट नहीं होने दे, ऐसा देखा जाता है कि हमारे शहर मे कई जगह तो पेयजल की व्यवस्था ही नहीं है। और अगर कहीं है भी तो उन अधिकांश स्थानों पर पाइप में लीकेज के चलते पानी बर्बाद होता रहता है। ऐसे स्थितियों को भी ठीक करने की जरूरत है। सार्वजनिक स्थलों पर नलो की टोटियां अक्सर खराब हो जाती है, और पेयजल बहता रहता है,यह ठीक नहीं है। अगर टोटियों को ठीक करा दिया जाए तो काफी जल की बचत हो सकती है। जल की ऐसी बचतें भी जल संरक्षण के मनोभाव को गतिमान करती है। जिला प्रशासन को चाहिए कि वह सर्वे कराए और खराब टोटियों को ठीक कराने के साथ ही पाइप लाइनों में लीकेज को बंद कराएं। ऐसा करने से पेयजल की बर्बादी में काफी कमी आ सकती है। वक्ताओं ने सभी काशी वासियों से पुरजोर ढंग से अपील किया कि वह अपने आप को पानी की बर्बादी से बचाते हुए, लोगों को भी जल संरक्षण के साथ पानी की बर्बादी से होने वाले दुष्परिणाम को समझाते हुए अकारण पानी की बर्बादी ना करने के लिए प्रेरित करेंगे।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से:- मुकेश जायसवाल, डॉ० अशोक कुमार राय, डा० रितु गर्ग, डॉ० संगीता बनर्जी, राजन सोनी, उपाध्यक्ष अनिल केसरी, कोषाध्यक्ष नंदकुमार टोपी वाले, सचिव सुमित सर्राफ, नीचीबाग व्यापार मंडल के अध्यक्ष प्रदीप गुप्त, शिक्षिका प्रिया मिश्रा, सहित सैकड़ों छात्राएं शामिल थी।