श्रमिक दिवस पर मजदूर ने बया किया अपना दर्द

रिपोर्ट – अरविन्द शर्मा / कानपुर देहात

आपको बता दें कि जनपद कानपुर देहात आज श्रमिक दिवस मना रहा है यानी मजदूरों के लिए मनाया जाने वाला दिन आज ईसी खास मौके पर जब एक मजदूर से हमने बात की तो उसने अपना दर्द बयान किया मजदूर ने कहा सरकार की चल रही योजनाएं प्रशासन जमीनी स्तर तक तो पहुंचाना चाहता है लेकिन गांव में प्रधान अपने चहेतों को ही काम देता है यानी कि सरकार की चलाई जा रही मनरेगा योजना जमीन पर जरूरतमंदों के लिए शून्य है मजदूर ने जानकारी देते हुए बताया कि जब उसे गांव में मनरेगा योजना के तहत काम नहीं मिलता है तो वह कस्बा और शहर की तरफ भागता है जहां कभी काम मिला तो कभी काम ना मिलता1 और इसी परेशानी के चलते वह अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा तक नहीं दे पाता अब कहीं ना कहीं सवाल तो तमाम खड़े होते हैं कि आखिर सरकार की चल रही योजनाओं पर प्रधान ईस तरह से पलीता क्यों लगा रहे हैं इस पूरे मामले को संज्ञान में लेने के बाद जिला प्रशासन ऐसे प्रधानों के खिलाफ कोई कार्यवाही करेगा जिससे जरूरतमंद मजदूर परिवारों को रोजगार मिल सके