बाढ़पीड़ितों को अभी तक नहीं मिला मुआवजा, कागजों में उलटफेर दे रहे हैं घोटाले के संकेत

कृपा शंकर चौधरी रिपोर्ट महेंद्र चौधरी झगहा गोरखपुर

गोरखपुर जनपद के तहसील चौरी चौरा ग्रामसभा के बसुही गौर सायरा मे विगत वर्ष बाढ़ की विभीषिका से क्षेत्र के किसानों की सारी फसल बर्बाद हो गई थी। भारी नुक्सान से पीड़ित किसानों को प्रशासन द्वारा फसल की मुआवजा हेतु ₹13 प्रति एयर देने का ऐलान किया था। किंतु धरातल पर किसानों के मुआवजे के ऐवज में जबरदस्त घोटाला एवं गलतियां देखने को मिल रही है l

ग्राम सभा बासुही गोरसरा के उपधवलिया गांव के बाबू राम सिंह,सुभाष सिंह,प्रेमनारायण सिंह आदि लोगो का पैसा इनके खाते मे ना जा कर किसी और के खाते मे पैसा डाला गया है l स्थानीय किसान परेशान है और कह रहे है कि हमारे खाते में पैसा नहीं आया और मै गांव से तहसील का चक्कर लगा कर परेशान हूं l चिंतनीय बात है कि इन पीड़ित किसानों की समस्या से जिम्मेदारों ने मुंह फेर लिया है जिससे इसका कोई स्थाई समाधान नहीं निकलता दिख रहा है।

हालत यह है कि तहसील परिसर में जाकर पता करने पर पीड़ित किसानों का मजाक उड़ाया गया कि आप लोगों का पैसा लेखपाल के खाते में चला गया है l किसानों द्वारा आरोप लगाया गया की इस तरह का प्रकरण गांव में अधिकांश किसानों के साथ है तथा लेखपाल द्वारा अनुचित लाभ लेकर कम खेत वाले किसानो के खाते मे 25 – 25 हजार रुपया भेजा गया है l

क्या कहते हैं लेखपाल

इस मामले कों लेकर जब लेखपाल अमित तिवारी सें बात किया गया तो उन्होंने कहा कि बैंक के कारण लोगों के खाते तक नहीं पहुंच पाई है मुआवजे की धनराशि और हम लोग सभी लाभार्थियों के लिए काम कर रहे हैं। किसान का पैसा दूसरे के खाते में जमा होने के प्रश्न पर लेखपाल द्वारा सही स्पष्टीकरण नहीं दिया गया। किसान द्वारा उनपर लगाए गए आरोप पर उन्होंने कहा कि जो आरोप लगाया जा रहा है गलत एवं निराधार है।

लाभ नहीं पाने वाले किसान। सिरजावती पत्नी बद्री
राम प्रसाद पुत्र बंसी
रामकिशुन पुत्र नीठुरी
सतेंद्र पुत्र बद्री
राम गैस पुत्र निठुरी
उपेंद्र पुत्र बद्री
महेंद्र पुत्र अयोध्या
लालती पत्नी जगदीश
दुर्गावती पत्नी मनोज
राम दरस पुत्र पुनवासी
सुभावती पत्नी द्वारिका
रामलाल पुत्र बसंत
कमला पुत्र कनता
सुनील पुत्र द्वारिका
महंगी पुत्र जमुना
रामाश्रय पुत्र शिव बालक
वीरेंद्र पुत्र शिव श्रीकिसून
राजेश पुत्र पुरुषोत्तम
शर्मा पुत्र अभय नाथ
अमर पुत्र संतोष
सोनमती पत्नी किशोर
रीता पत्नी राजेश
सूर सती पत्नी तेजू
पवन पुत्र राम दरस

गौर करने वाली बात

3 डिसमिल से 10 डिसमिल वाले किसान को मिला है 20 से 25000 तक के रुपया स्थानीय पड़ताल मे पता चला कि
चन्दन प्रसाद पुत्र पारसनाथ 6 डिशमील जमीन है 24138 रुपया मिला। दयाशंकर पुत्र सहती 6 डिसमिल जमीन 25798 रुपया मिला
किरण देवी पत्नी छोटेलाल 8 डिसमिल जमीन 24799 रुपया मिला।
रेनू प्रसाद पत्नी मुन्नी लाल 6 डिसमिल जमीन 24975 रुपया मिला।
शर्मिला देवी पत्नी उदय शंकर 3 डिसमिल जमीन 25191रुपया मिला
अंजली देवी पत्नी दीपचंद 3 डिसमिल जमीन 20668 रुपया मिला।

किसानो को पेमेंट का पीडीऍफ़ फाइल है उसमे स्पस्ट है कि किसानो के खाते मे पैसा नही गया किसी और के खाते मे गया है। क्यों गया कैसे गया इसकी जांच होनी चाहिए। किसानो के साथ न्याय हो अन्याय नहीं जो किसानो का आरोप है की लेखपाल पैसा लेकर कम खेत वाले किसानो के खाते मे अधिक पैसा डाला है यह भी जांच का विषय होना चाहिए।