Test Ad
किसान पानी की बचत करे, क्यारी बनाकर करें सिंचाई

किसान पानी की बचत करे, क्यारी बनाकर करें सिंचाई

अरुण राजभर जौनपुर

   जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में भूगर्भ जल सप्ताह कार्यक्रम आयोजन के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न हुई।   जिलाधिकारी ने कहा कि किसान पानी की बचत करें, फसलों की सिंचाई क्यारी बनाकर करें, सिंचाई की नालियों को पक्का करें या पीवीसी पाइप का प्रयोग करें, बागवानी की सिंचाई हेतु ड्रिप विधि व फसलों हेतु स्प्रिंकलर विधि अपनाएं, पेड़ पौधों की फसलों की सिंचाई आदि में आवश्यकतानुसार ही पानी का प्रयोग करें, बगीचे में पानी सुबह ही दे ताकि वाष्पीकरण से होने वाला नुकसान कम किया जा सके। 

       जल की कमी वाले क्षेत्रों में ऐसी फसलें बोयें जिसमें कम पानी की आवश्यकता हो, अत्याधिक भूजल गिरावट वाले क्षेत्रों में फसल चक्र में परिवर्तन कर अधिक जल खपत वाली फसलें न उगाई जाए। खेतों की मेड़ों को मजबूत व ऊॅचा करके खेत का पानी खेत में रिचार्ज होने दे।  

       कहा कि रोजमर्रा के घरेलू कार्यों में जल की बचत करें, दंत मंजन करते, दाढ़ी बनाते समय नलो/टोटी को कम से कम खोलें और मग का इस्तेमाल करें, बर्तनों को माजते समय नल बंद रखें, जब धुलाई करनी हो तब यह नल को खोलें, जल की धार हमेशा धीमी रखें और टपकते नलों को तुरंत ठीक कराएं। गाड़ी की धुलाई पाइप लगाकर न करें, बल्कि बाल्टी में पानी लेकर गाड़ी साफ करें, घर के आगे की सड़कों को अनावश्यक पानी से न धोए।

       सार्वजनिक नलों में लीकेज देखें तो उसकी शिकायत जल संस्थान को करें। कम पानी की खपत वाली फ्लश सिस्टम का प्रयोग करें, इससे 10 लीटर पानी बचेगा, रसोई में ताजा पानी भरने की प्रवृत्ति छोड़ संग्रहित पानी का पूरा इस्तेमाल करें, पानी की टंकी में वाल्व अवश्य लगाएं और पानी को ओवरफ्लो न कराएं, घर के सदस्यों को पानी बचाने की शिक्षा जरूर दें। 

       ध्यान रखें कि अनावश्यक जल की बर्बादी अथवा टपकना एवं ऋणात्मक ऊर्जा उत्पन्न करता है, जो आपके मन में मस्तिष्क को भी प्रभावित करता है, जल, उर्जा एवं धन की बचत का आशय है कि उसे दूसरों के हित में साधन में लगाना चाहिए। मुख्य विकास अधिकारी सीलम साई तेजा ने बताया कि प्रदेश में गिरते भूजल स्तर को दृष्टिगत रखते हुए भूगर्भ जल सप्ताह के महत्व के प्रति जन जागरूकता सृजित करने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी 16 जुलाई से 22 जुलाई  के मध्य भूजल सप्ताह मनाया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि जल संरक्षण के साथ-साथ जल के अपव्यय को रोककर हम सभी इस दिशा में एक महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं।  

        अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई संदीप कुमार द्वारा भूजल सप्ताह की आवश्यकता एवं प्रासंगिकता बताएं गये। उन्होंने जल संरक्षण की दिशा में जनपद में कराए जा रहे कार्यों से प्राप्त सकारात्मक परिणाम के बारे में भी बताया।  मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 लक्ष्मी सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी, बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित अन्य अधिकारीव कर्मचारी उपस्थित रहे।

admin
Share: | | | 111
Comments
Leave a comment

Advertisement

Test Sidebar Ad
Search

क्या है तहकीकात डिजिटल मीडिया

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।

Videos

Get In Touch

Call Us:
9454014312

Email ID:
tahkikatnews.in@gmail.com

Follow Us
Follow Us on Twitter
Follow Us on Facebook

© Tehkikaat News 2017. All Rights Reserved. Tehkikaat Digital Media Pvt. Ltd. Designed By: LNL Soft Pvt. LTD.