Test Ad
एक तरफ़ वन महोत्सव का कार्यक्रम दूसरी ओर वन माफियाओं का आतंक जारी

एक तरफ़ वन महोत्सव का कार्यक्रम दूसरी ओर वन माफियाओं का आतंक जारी

राकेश सिंह गोंडा

बभनजोत गोंडा। खोड़ारे थाना क्षेत्र में हरे भरे पेड़ों की अवैध रूप से कटाई जारी रहने से पर्यावरण का संकट बढ़ता जा रहा है। वन माफियाओं द्वारा कीमती लकड़ी की कटाई कर वृक्ष विहीन बनाने का कार्य धड़ल्ले से किया जा रहा है। पेड़ों की अवैध कटाई से आने वाले दिनों में प्रदूषण बढ़ने की आशंका बढ़ती जा रही है। पेड़ों की अवैध कटाई कर कई लोग मालामाल हो रहे हैं, वहीं प्रकृति से हरियाली घटती जा रही है। वहीं इसके जिम्मेदार अधिकारी भी मालामाल हो रहे हैं जब कोई व्यक्ति विभाग में शिकायत करता है तो संबंधित माफियाओं से साठ-गांठ होने के नाते विभागीय अधिकारी ठेकेदार को शिकायतकर्ता का नाम बताकर दबाव बनाने का काम करते हैं और स्वयं मोटी रकम वसूल कर हरियाली पर आरा और खुद को मालामाल कर रहे हैं पिछले कुछ दिनों में थाना खोड़ारे क्षेत्र के सबसे अधिक हरे सागौन के पेड़ों की अवैध कटान, केशव नगर ग्रंट, बस्ती खास,खरिका बगिया,रौतापुर, सहित अन्य स्थानों पर हजारों की संख्या में हरे भरे कीमती सागौन के पेड़ वन विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदारों ने मार्केट में अवैध तरीके से बेच कर ठेकेदार व अधिकारी मालामाल हो गये और शिकायत करने वालों को कार्रवाई के बजाय माफियाओं से दुश्मनी मोल लेनी पड़ी 


आपको बता दें कि विभागीय शह पर अवैध आरा मशीनों पर अवैध लकड़ियों की चिरान भी बड़े पैमाने पर हो रही है जिसमें प्रमुख रूप से गौरा चौकी,हबीबनगर, इलाकों में धड़ल्ले से अवैध लकड़ियों की चिरान जारी है ऐसे में विभागीय अधिकारी सवालों के कटघरे में आ रहे हैं कि जब कोई शिकायत करता है तो विभागीय अधिकारी ठेकेदारों पर कार्रवाई करने के बजाय उसे बचाने की कोशिश क्यों करते हैं आखिर सरकार की आंख में धूल झोंककर पर्यावरण को नुकसान क्यों पहुंचा रहे हैं जबकि सरकार वृक्षारोपण के नाम पर करोड़ों तथा पर्यावरण दिवस,वन महोत्सव के नाम पर करोड़ों रुपए क्यों खर्च कर रही है यदि इन सब चीजों का जिम्मेदार विभागीय अधिकारी हैं तो इन पर कार्रवाई कौन करेगा 

वहीं इन सब सवालों के जवाब जानने के लिए जब वन रेंज आफिसर सादुल्लाह नगर सुशील चतुर्वेदी से बात की तो उन्होंने बताया कि हमारा तीस जून को स्थानांतरण हो गया है मामला संज्ञान में आया है संबंधित वन रक्षकों से बात की जाएगी वहीं अवैध आरा मशीनों के संचालन की बात को लेकर हिचकिचाते नजर आए और लाइसेंस होने का हवाला दिया लेकिन जब अवैध लकड़ियों के चिरान की बात पूछी गई तो स्पष्ट जवाब नहीं दे सके

admin
Share: | | | 346
Comments
Leave a comment

Advertisement

Test Sidebar Ad
Search

क्या है तहकीकात डिजिटल मीडिया

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।

Videos

Get In Touch

Call Us:
9454014312

Email ID:
tahkikatnews.in@gmail.com

Follow Us
Follow Us on Twitter
Follow Us on Facebook

© Tehkikaat News 2017. All Rights Reserved. Tehkikaat Digital Media Pvt. Ltd. Designed By: LNL Soft Pvt. LTD.